माता शारदा देवी मंदिर मैहर धाम की संपूर्ण यात्रा जानकारी

दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से हम मध्य प्रदेश राज्य के सतना जिले में मैहर नामक स्थान पर स्थित माता शारदा देवी मंदिर मैहर धाम की संपूर्ण यात्रा जानकारी के बारे में विस्तार से जानने वाले है जिसमे मैहर माता का इतिहास, मैहर कैसे जाएं, मैहर जाने का सही समय और मैहर में घूमने की जगह आदि शामिल हैं।

यह मंदिर हिंदुओ की धार्मिक आस्था का बहुत ही पवित्र और प्रसिद्ध स्थान है जहां पर दूर दूर से भारी संख्या में श्रद्धालु आते हैं। यह मंदिर त्रिचूट पर्वत पर 600 फिट की ऊंचाई पर मौजूद है जहां तक पहुंचने के लिए 1063 सीढ़िया चढ़नी पड़ती है इसके अलावा रोपवे के द्वारा भी आप इस मंदिर तक पहुंच सकते हैं।

Table of Contents

माता शारदा देवी मंदिर मैहर धाम की संपूर्ण यात्रा जानकारी

मैहर माता मंदिर का इतिहास – History Of Maihar Mata Temple In Hindi

मैहर मंदिर हिंदुओ की धार्मिक आस्था में बहुत महत्व रखता है जिसके बारे में पौराणिक तथ्यों के अनुसार कहा जाता है कि यह स्थान भारत के प्रमुख शक्ति पीठों में से एक है प्राचीन समय में मैहर मंदिर की खोज आल्हा और उदल नामक 2 महान योद्धाओ ने की थी जो की दोनो भाई थे।

आल्हा ने घने जंगलों में इस मंदिर की खोज करने के बाद 12 सालों तक अटूट तपस्या की थी तब देवी मां इनके ऊपर प्रसन्न हो गए और इनको अपने दैवीय रूप के दर्शन दिए थे और इनको अमर होने का वरदान दिया तब से ऐसा माना जाता है कि आल्हा और उदल अमर हो गए।

आल्हा करते हैं पहले श्रंगार

कहा जाता है कि आल्हा आज भी अदृश्य रूप से आकर देवी मां की पूजा करते हैं मैहर मंदिर के मुख्य महंत बताते हैं कि अभी भी आल्हा ही देवी मां का पहला श्रृंगार करते हैं। जब ब्रह्म मुहूर्त में मां शारदा मंदिर के पट खोले जाते हैं तो पूजा की हुई मिलती है जो की मैहर मंदिर का रहस्य है जिसको आज तक वैज्ञानिक भी नहीं सुलझा पाए। इस मंदिर की पवित्रता का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं।

कौन थे आल्हा और ऊदल

आल्हा और ऊदल बुंदेलखंड के महोबा के महान वीर योद्धा थे जो अपनी वीरता के लिए पूरे भारत में जाने जाते थे। कहा जाता है कि इन महान योद्धाओं ने 52 युद्ध लड़े थे और विजय प्राप्त की। आखिरी युद्ध इन्होंने पृथ्वीराज चौहान के साथ लड़ा था जो की बहुत ही भीषण युद्ध हुआ था। और इस युद्ध के बाद आल्हा मां शारदा के भक्त बन गए।

मैहर जाने का सही समय – Best Visiting Time Maihar In Hindi

माता शारदा देवी, मैहर माता मंदिर में पूरे साल भर ही भारी संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने आते हैं लेकिन नवरात्रि के पर्व पर मां के दर्शन करने के लिए भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ता है। इस दौरान यहां पर मेले का आयोजन भी होता है। अगर आप नवरात्रि के पर्व के दौरान शारदा माता के दर्शन करने जाते हैं तो यह समय आप के लिए बहुत अच्छा है बाकी आप पूरे साल में किसी भी समय माता के दर्शन करने जा सकते हैं।

मैहर कैसे जाएं – How To Reach Maihar In Hindi

ट्रेन से मैहर कैसे जाएं – How To Reach Maihar By Train In Hindi

मैहर रेलवे स्टेशन भारत के कई प्रमुख शहरों से काफी अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है जिसमे मुंबई, दिल्ली, चेन्नई और हैदराबाद जैसे कई प्रमुख शहर शामिल हैं। यह रेलवे स्टेशन मैहर माता मंदिर से 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इसके अलावा सतना रेलवे स्टेशन भी मैहर के नजदीक पड़ता है।

सड़क मार्ग से मैहर कैसे जाएं – How To Reach Maihar By Road In Hindi

मैहर सड़क मार्ग द्वारा भारत के विभिन्न हिस्सों से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है जिससे आप सड़क मार्ग द्वारा आराम से मां शारदा के दर्शन करने मैहर जा सकते हैं इसके अलावा आस-पास के प्रमुख शहरों से मैहर के लिए बसों की सुविधा भी मिल जाएगी।

हवाई जहाज से मैहर कैसे जाएं – How To Reach Maihar By Flight In Hindi

अगर आप हवाई जहाज से मैहर जाने की सोच रहे हैं तो आप की जानकारी के लिए बता दे कि मैहर में कोई भी एयरपोर्ट नही है लेकिन यहां से 105 किलोमीटर की दूरी पर स्थित खजुराहो हवाई अड्डा मैहर के सबसे नजदीक हवाई अड्डा है जो की भारत के कई प्रमुख शहरों से काफी अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

इस हवाई अड्डे के बाहर ही आप को टैक्सी की सुविधा मिल जाएगी जिसकी मदद से आप मैहर पहुंच सकते हैं इसके अलावा जबलपुर हवाई अड्डा भी मैहर के नजदीक पड़ता है जो मैहर से 143 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

मैहर में घूमने की जगह – Maihar Tourist Place In Hindi

1. मैहर पर्यटन स्थल नीलकंठ मंदिर – Nilkanth Temple, Maihar In Hindi

मैहर से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित नीलकंठ मंदिर मैहर के आस पास घूमने का बहुत अच्छा स्थान है। यहां पर मौजूद आश्रम में नीलकंठ जी महाराज ने तपस्या की थी। इसके अलावा अगर आप मानसून के मौसम में यहां पर जाते हैं तो आप को झरने भी देखने को मिलेंगे जो मन को आनंद से भर देते हैं।

2. मैहर में घूमने की जगह आल्हा ऊदल अखाड़ा – Aalha Udal Akhada, Maihar In Hindi

मैहर के घने जंगल में स्थित आल्हा ऊदल अखाड़ा मैहर का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है काफी संख्या में पर्यटक इस मंदिर को देखने आते हैं इसके अलावा यहां पर एक खूबसूरत सरोवर भी है जिसके अंदर मौजूद कमल के फूल पर्यटकों को बहुत पसंद आते हैं। यहां पर आप अपने परिवार के साथ कुछ समय बीता सकते हैं।

3. मैहर के दर्शनीय स्थल बड़ी खेरमाई मंदिर – Badi Khermai Temple, Maihar In Hindi

बड़ी खेरमाई मंदिर मैहर के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है जहां पर काफी संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने जाते हैं। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यह शारदा मां की बड़ी बहन है। इसके अलावा इस मंदिर के यहां पर आप एक प्राचीन बाबड़ी भी देख सकते हैं। अगर आप मैहर की यात्रा कर रहे हैं तो इस स्थान को भी अपनी लिस्ट में जरूर शामिल करें।

4. मैहर में घूमने वाली जगह पन्नीखोह जलप्रपात – Pannikhoh Watarfall, Maihar In Hindi

पन्नीखोह जलप्रपात मैहर की बहुत ही खूबसूरत प्राकृतिक जगह है जो की घने जंगल के बीच में स्थित है। यहां का शान्त हरा भरा और सुनहरा वातावरण पर्यटकों को भाव विभोर कर देता है। मानसून के मौसम में यहां का वातावरण बहुत सुहावना होता है।

अगर आप मानसून के मौसम में मैहर की यात्रा कर रहे हैं तो इस जलप्रपात को देखने जरूर जाएं। घने जंगल में स्थित होने की वजह से इस जलप्रपात तक पहुंचने के लिए थोड़ा पैदल चलकर जाना पड़ता है।

5. मैहर टूरिस्ट प्लेस मैहर का किला – Maihar Fort, In Hindi

मैहर का किला ऐतिहासिक और प्राचीन किला है जो की वर्तमान में एक होटल में बदल दिया गया है। यह किला लगभग 300 से भी अधिक साल पुराना है जहां पर आप ठहरने के लिए रूम बुक कर सकते हैं। यह किला एक निजी प्रॉपर्टी है इसलिए यहां पर जाने के लिए परमिशन लेनी पड़ती है।

6. मैहर के प्रमुख तीर्थ स्थल इच्छापूर्ति मंदिर – Icchapurti Temple, Maihar In Hindi

इच्छापूर्ति मंदिर मैहर के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है जो कि देवी दुर्गा को समर्पित है। इस मंदिर की नक्काशी बहुत ही खूबसूरत देखने लायक है जो पर्यटकों को बेहद आकर्षित करती है। इसके अलावा इस मंदिर में गणेश जी, हनुमान जी, राम जी, शिवलिंग और लक्ष्मी जी की मूर्तियां भी मौजूद है

जिनके दर्शन भी आप कर सकते हैं। चारों ओर बगीचे से घिरे हुए इस मंदिर के बाहर ही एक खूबसूरत फवारा मौजूद है जो बहुत ही आकर्षक दृश्य प्रस्तुत करता है। रात के समय लाइटिंग की वजह से यहां का नजारा अद्भुत होता है।

7. मैहर के प्रसिद्ध मंदिर गोला मठ मंदिर – Gola Math Temple, Maihar In Hindi

गोला मठ मंदिर मैहर के सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है जो कि भगवान शिव को समर्पित है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यह मंदिर एक ही रात में बनाया गया। इस मंदिर की दीवारों पर खूबसूरत नक्काशी की गई है। अगर आप धार्मिक आस्था रखते हैं तो अपनी मैहर यात्रा के दौरान इस मंदिर में अपने परिवार के साथ दर्शन करने जरूर जाएं।

8. मैहर में घूमने की जगह बड़ा अखाड़ा मंदिर – Bada Akhada Temple, Maihar In Hindi

बड़ा अखाड़ा मंदिर मैहर का बहुत ही अच्छा स्थान है जहां पर मंदिर की छत पर एक विशाल शिवलिंग मौजूद है और मंदिर के अंदर 108 शिवलिंग स्थापित है। इस मंदिर के गर्भ गृह में मुख्य शिवलिंग स्थापित है। इसके अलावा मंदिर के यहां पर एक आश्रम भी बना हुआ है।

9. मैहर के प्रमुख पर्यटन स्थल ओइला मंदिर – Oila Temple, Maihar In Hindi

ओइला मंदिर मैहर के लोकप्रिय दर्शनीय स्थलों में आता है जो कि देवी दुर्गा को समर्पित है यहां पर दुर्गा देवी की भव्य प्रतिमा मौजूद हैं। इसके अलावा आप यहां पर गणेश जी की प्रतिमा और शिवलिंग के दर्शन भी कर सकते हैं। अपनी मैहर यात्रा के दौरान इस मंदिर को भी अपनी लिस्ट में शामिल कर सकते हैं।

10. मैहर में घूमने की अच्छी जगह ललितंबा शक्ति पीठ – Lalitmba Shakti Pith, Maihar In Hindi

ललितंबा शक्ति पीठ मैहर के नजदीक स्थित देवी दुर्गा को समर्पित खूबसूरत और प्रसिद्ध मंदिर है जहां पर काफी संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने जाते हैं। यह काफी बड़ा मंदिर है जहां पर एक आश्रम भी मौजूद है। इसके अलावा यहां पर शिवलिंग और राधा कृष्ण की मूर्तियां भी विराजमान हैं जिनके भी आप दर्शन कर सकते हैं।

मैहर का प्रसिद्ध भोजन – Local Famous Food Maihar In Hindi

मैहर में आप को कई तरह के फेमस फूड देखने को मिल जाएंगे लेकिन लिट्टी चोखा, फलहारी आलू चिवड़ा, शिकंजी और मोठ दाल नमकीन आदि मैहर के प्रसिद्ध भोजन है जिनके स्वाद का आनंद आप अपनी मैहर यात्रा के दौरान उठाना नही भूले।

मैहर माता मंदिर रोपवे का समय – Maihar Mata Mandir Ropeway Timing In Hindi

अगर आप रोपवे के द्वारा मैहर माता मंदिर में दर्शन करने जाना चाहते हैं तो यहां पर श्रद्धालुओ के लिए रोपवे की शानदार सुविधा भी उपलब्ध है। रोपवे का समय सुबह 6.30 से शाम के 7 बजे तक का होता है जिसके लिए आप को कुछ चार्जेज देने होते हैं।

FAQs

1 – मैहर क्यों प्रसिद्ध है?

Ans – मध्यप्रदेश के सतना जिले में स्थित मैहर माता शारदा देवी के मंदिर मैहर धाम के लिए पूरे भारत में प्रसिद्ध है।

2 – मैहर स्टेशन से मंदिर की दूरी कितनी हैं?

Ans – मैहर स्टेशन से मैहर मंदिर की दूरी लगभग 4 किलोमीटर है। ऑटो की मदद से आप मैहर रेलवे स्टेशन से मैहर मंदिर आराम से पहुंच सकते हैं।

3 – मैहर से चित्रकूट की दूरी कितनी हैं?

Ans – मैहर से चित्रकूट की दूरी 115 किलोमीटर है।

4 – मैहर माता के मंदिर में कितनी सीढियां है?

Ans – मैहर माता मंदिर के यहां 1063 सीढियां है जिनको चढ़कर श्रद्धालु माता के दर्शन करने जाते हैं। और अगर आप रोपवे के द्वारा माता के दर्शन करने जाना चाहते हैं तो यहां पर रोपवे की सुविधा भी मौजूद है।

5 – मैहर माता मंदिर खुलने का समय क्या है?

Ans – अगर आप मैहर माता मंदिर में सुबह के समय दर्शन करना चाहते हैं तो इस मंदिर के खुलने का समय सुबह 5 बजे से लेकर सुबह 8 बजे तक होता है वही अगर आप शाम के समय माता के दर्शन करना चाहते हैं तो शाम को दर्शन करने का समय 4 बजे से लेकर रात के 9 बजे तक का होता है।

Maa Sharda Temple Maihar In Hindi

तो दोस्तो इस आर्टिकल के माध्यम से हमने माता शारदा देवी मंदिर मैहर धाम की संपूर्ण यात्रा जानकारी के बारे में विस्तार से जाना हैं अगर आपको यह लेख पसंद आया है तो कमेंट कर के जरूर बताएं और अपने परिवारजनों के साथ जरूर शेयर करें।

हेलो दोस्तों मेरा नाम Bhavesh Gadri हैं और मैं इस ब्लॉग का Author और Content Writer हूँ। अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लग रही हो तो इसे शेयर जरूर करे

Leave a Comment